Wednesday, 18 July 2018

भारत में जातिवाद ही सबसे बड़ा आतंकवाद Part 1

.

भारत में जातिवाद ही सबसे बड़ा आतंकवाद Part 1

Cast in India
सबसे बड़ा आतंकवाद जातिवाद या ISIS
जय भीम

जातिवाद और ISIS में सबसे बड़ा संगठन कौन ?

वैसे अगर कोई मुझसे पूछे भारत में सबसे बड़ा आतंकवाद क्या है तो मैं जातिवाद को ही सबसे बड़ा आतंकवाद Casteism कहूंगा और अगर कोई मुझसे यह पूछे कि सबसे बड़ा देशद्रोही कौन है तो मैं सबसे बड़ा देशद्रोही उसे कहूंगा जो जातिवाद का समर्थन करता है तथा अगर कोई मुझसे पूछे कि जातिवाद Casteism और ISIS में से सबसे बड़ा आतंकी संगठन कौन है ,तो जातिवाद को ही सबसे बड़ा संगठन कहूंगा जातिवाद से बड़ा आतंकी संगठन दुनिया में आज तक पैदा नहीं हुआ है ISIS का मैं समर्थन नहीं कर रहा लेकिन जातिवाद आतंकी संगठन की बात करें तो ISIS जातिवाद के सामने बहुत छोटा संगठन है , ISIS संगठन मैं इंसान की सीधे गर्दन पर दी जाती है लेकिन जातिवाद आतंकी संगठन में जो जिस जाति Cast में पैदा होगा वह उसी जाति को लेकर मरना पड़ता है, जातिवाद के कारण इंसान को तिल, तिल के दिन प्रतिदिन मरना पड़ता है , ISIS का इतिहास History तो कुछ ही साल पुराना है लेकिन जातिवाद का इतिहास हजारों साल पुराना है जातिवाद के खिलाफ हजारों सालों से संघर्ष Straggle चला आ रहा है लेकिन आज भी देश में जातिवाद कायम है , ISIS संगठन  में कुछ सही लोग होंगे लेकिन जातिवाद संगठन में हजारों जातियां Castes हैं और उन जातियों की हजारों उपजातियां हैं जातिवाद में एक जाति दूसरी जाति के बीच ऊंच-नीच की व्यवस्था कायम है । इस जातिवाद में बहुजन समाज को 6743 तथा 49000 के करीब उपजातियों में बांट कर रख दिया और इनके बीच रोटी बेटी का संबंध हमेशा के लिए बंद कर दिया गया ।

जातिवाद आतंकवादी संगठन क्यो है ?

जातिवाद आतंकी संगठन क्यों है अब यह सवाल सामने आता है इसका कारण सदियों से ब्राह्मणवादी व्यवस्था Brahminical system का कायम होना है और यही ब्राह्मणवादी व्यवस्था इस देश में हजारों सालों से कायम है तथा इस देश के सदियों से 85% Bahujan Samaj को गुलाम बनाकर रखना इस आतंकी संगठन का सबसे बड़ा मकसद है, बहुजन समाज को सदियों से गुलाम बनाकर रखा गया तथा इन्हें शिक्षा, बेरोजगार, सामाजिक, अन्याय, अत्याचार, असमानता छुआछूत का सदियों (Centuries) से शिकार होना पड़ रहा है, तथा पशुओं को माता का दर्जा दिया जा रहा है लेकिन बहुजन समाज के लोगों को कभी इंसान नहीं समझा जा रहा है बल्कि इनकी जिंदगी बद से बदतर हो गई है ISIS आतंकवादी संगठन में इंसान को एक झटके में खत्म कर दिया जाता है लेकिन जातिवादी संगठन (Racist organization) में इंसान को मरने  तक नहीं छोड़ा जाता है जातिवाद में इंसान को पीढ़ी-दर-पीढ़ी (Generation by Generation) गुलाम बनाकर रखा जाता है इसमें इंसान चाहकर भी जाति Cast से बाहर Out नहीं निकल सकता, इंसान भारत में जहां जहां जाएगा जाति उसके पीछे परछाई की तरह साथ रहेगी इंसान कितना भी बड़ा क्यों न हो जाए लेकिन Cast उसका पीछा मरते दम तक नहीं छोड़ती है , जातिवाद Casteism हजारों सालों से चली आ रही हैं लेकिन यह खत्म होने का नाम नहीं ले रही है जातिवाद का जहर Poison इंसान के नस नस में भरा हुआ है तथा यह भारत की हवाओं में घुला हुआ है ।

जातिवाद खत्म करने के लिए संघर्ष :-

जब से जातियां बनी है तब से इसके खिलाफ Bahujan Samaj के संतो गुरु महापुरुषों ने अपने अपने समय पर संघर्ष किया है जिसमें सबसे पहले महात्मा गौतम बुद्ध, संत कबीर, संत रविदास, संत चोखामल, महात्मा फुले, माता सावित्रीबाई फुले, छत्रपति शाहूजी महाराज, बिरसा मुंडा, पेरियार रामास्वामी नायकर ,नारायण गुरु, तथा डॉक्टर अंबेडकर आदि तमाम प्रकार के संत गुरु महापुरुषों ने संघर्ष किया ।
महात्मा बुद्ध ने सबसे पहले जातिवाद के खिलाफ संघर्ष Struggle जारी  किया तथा उन्होंने अपने धर्म के माध्यम से जातिवाद के खिलाफ आवाज उठाई महात्मा बुद्ध ने अपने धम्म में सभी जातियों को शरण दी तथा महिलाओं Ladies को शरण दी
Mahatma Buddha में कहा कि “ जिस तरह सारी नदियां एक होकर समुद्र में मिल जाती हैं उनका कोई पिछला अस्तित्व नहीं रहता उसी तरह सारी जातियां मेरे धम्म में आकर एक हो जाती हैं उनका कोई जाति Cast नहीं रहती है




इसके बाद सम्राट अशोक Emperor Ashok के शासन में जातिवाद को खत्म कर दिया गया था और बुद्ध धम्म स्थापित हो गया था और 50 साल तक सम्राट अशोक का शासन रहा लेकिन  मौर्य वंश के अंतिम शासक की बृहद्रथ की धोखे हत्या करके ब्राह्मण धर्म Brahman Religion फिर से स्थापित हो गया था ।
इसके बाद महात्मा फुले माता सावित्रीबाई फुले छत्रपति शाहूजी महाराज तथा डॉ बाबासाहेब अंबेडकर 19वीं 20 वीं सदी में आंदोलन चलाया तथा जब डॉक्टर बाबा अंबेडकर को संविधान Constitution लिखने का मौका मिला तो उन्होंने छुआ-छूत (Touched-fingered) जातिवाद  को संविधान Constitution में खत्म कर दिया ।
जातिवादी सबसे बड़ा आतंकवाद के Part 2 में जातिवाद होने का कारण बताये तथा इसका जातिवाद से मुक्ति के बारे में लिखेंगे ।
आपको यह आर्टिकल  कैसा लगा Comment Box में जरुर बताएं तथा इसे Social Media के माध्यम से Share जरूर करें आपका Response ही  हमारी ताकत है ।

0 comments:

आपको यह पोस्ट कैसी लगी कृपया यहाँ comment Box में बताये
धन्यवाद