Sunday, 8 July 2018

सरकारी संस्थानों में हिन्दू धर्म का कब्जा

.

सरकारी संस्थानों में हिन्दू धर्म का कब्जा

Government in hinduism
सरकारी संस्थाओं में ब्राह्मण धर्म का कब्जा
जय भीम
हमारे देश के संविधान में धर्मनिरपेक्षता की बात कही गई है,धर्मनिरपेक्षता का मतलब है किसी धर्म के पक्ष में नहीं ,26 जनवरी 1950 से 2018 तक के 68 सालो की बात करे तो सरकारी संस्थानों में हिन्दू धर्म का कब्जा रहा है,जबकि जब देश का संविधान Constitution धर्म निरपेक्षता की बात कहता है,तथा जो लोग ये कहते है कि देश संविधान से चलता है,तो फिर सरकारी संस्थानों में हिन्दू धर्म का कब्जा क्यों है ,इस मुद्दे पर हमें सोचने पर मजबूर करता है ,और दिमाग मे Question आता है कि :-
  • Question:- क्या भारत मे केवल हिंदुओं की आबादी है ?
  • Answer:- नहीं
  • Question:- अगर भारत मे केवल हिंदुओं की आबादी नहीं है तो फिर पूरा देश क्या हिन्दू धर्म का पक्षधर है ?
  • Answer:- नहीं

अगर भारत मे केवल हिन्दू आबादी नहीं है ,और न ही हिन्दू धर्म को पूरा देश मानता नहीं है ,फिर सरकारी संस्थानों में हिन्दू धर्म का कब्जा क्यों है इस बात को हमें सोचने समझने  की आवश्यकता (requirement)है ।
Rajasthan high Cort
राजस्थान हाईकोर्ट के सामने मनु की मूर्ति

हिन्दू धर्म का कब्जा कहाँ कहाँ :-

आज देश के हर सरकारी संस्थानों में हिन्दू धर्म के देवी देवताओं की Image या मूर्ति कहीं न कहीं आपको देखने को मिली होगी और शायद आपके मन मे ये Question भी आया होगा कि सरकारी विभाग ,संस्थानों में केवल देवी देवताओं की image या मूर्ति क्यो होती है, तथा अन्य धर्म  मुस्लिम , ईसाई ,जैन सिक्ख धर्म की क्यों नहीं होती है , यह सवाल आपके मन में जरूर आया होगा, आपने हमेशा देखा होगा कि सरकारी, स्कूल कॉलेज सरकारी विभाग, Hospital, पुलिस स्टेशन आदि के पास हिंदू धर्म का मंदिर अवश्य होगा या इन विभागों में देवी देवताओं की मूर्ति या फोटो आपको जरूर देखने मिलेगी और इसका सबसे बड़ा exmaple राजस्थान हाईकोर्ट के बाहर मनु की मूर्ति स्थापित है ।

Government school or colleges में हिन्दू धर्म :-

जब भी हम Government school or colleges में  study  करने जाते हैं तो वहां  देवी देवताओं की मूर्ति या images जरूर देखते है , स्कूल कॉलेज में कोई Program शुरू होने से पहले देवी देवताओं की पूजा अर्चना जरूर होती है, और फिर कार्यक्रम Start होता है जबकि स्कूल कॉलेज में अकेले हिंदू धर्म की Teachers और Students नहीं होते वहां तो सभी धर्म के मानने वाले लोग होते हैं फिर भी वहां Specially  हिंदू धर्म को महत्व दिया जाता है ।
यहां तक की बात करें तो सरकारी स्कूल में पहली से दसवीं तक के Syllabus में Special हिंदू धर्म को महत्व दिया गया है तथा हिंदू धर्म से संबंधित परीक्षा में Question आते है ।

सरकारी विभागों में हिंदू धर्म का कब्जा :-

सरकारी विभागों की अगर हम बात करें तो Government Department जैसे पुलिस स्टेशन, कलेक्ट्रेट, रेलवे स्टेशन, तहसील ,सरकारी बैंक तथा तमाम प्रकार के सरकारी विभागों के Office में खासतौर से देवी देवताओं की फोटो या मूर्ति वहां स्थापित रहती है, इसके अलावा आप लोगों ने देखा होगा कि सरकारी विभागों के Office के बाहर या आस-पास हिंदुओं के मंदिर ज्यादातर रहते हैं, तथा खासकर जेलों के अंदर हिन्दू धर्म के मंदिर बनें होते और वहाँ daily पूजा अर्चना होती है ,जबकि सभी सरकारी विभागों में सभी धर्मों के मानने वाले वहां काम करते है तथा सभी धर्म के लोग अपने काम से आते जाते लेकिन देखने को Only हिंदू धर्म का जबरदस्ती कब्जा जमा रहता है जबकि यह संविधान तथा लोकतंत्र के खिलाफ है लेकिन सरकारी विभाग और Office में बिना किसी दबाव के उन्होंने यहां मंदिर तथा देवी देवताओं की मूर्ति स्थापित कर रखी हैं ।

आखिर ऐसा क्यों है ?

प्रश्न सामने आता है कि आखिर क्यों हिंदू धर्म को जबरदस्ती हिंदुत्ववादी लोग थोपना चाह रही हैं इसका कारण यह समझ सकते हैं कि यह ब्राह्मणवादी RSS तथा हिंदुत्ववादी संगठनों की ऐसी साजिश रची जा रही है कि हर Goverment, Private Department में हिंदू देवी देवताओं की फोटो तथा मंदिर स्थापित हो ताकि जैसे मैंने पिछले Article में बताया था इनका मुख्य उद्देश्य (Main Purpose) भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाना है ।
अभी RSS द्वारा संचालित हिंदुत्ववादी भारतीय जनता पार्टी BJP के पास संविधान बदलने के लिए और हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लोकसभा में पूर्ण बहुमत है, लेकिन अभी राज्यसभा में पूर्ण बहुमत नहीं है , लेकिन जब राज्यसभा में पूर्ण बहुमत साबित हो जाएगा तथा ब्राह्मणवादी सत्ताधारी नेताओं द्वारा हिंदू राष्ट्र घोषित कर देंगे , तब इनसे सवाल पूछेंगे कि हिंदू राष्ट्र क्यों बनाया है तब BJP RSS के नेता इस सवाल के जवाब में यह बोलेंगे कि सालों से देश के सभी Government, Offices में देवी देवताओं की मूर्ति है तथा मंदिर स्थापित है तब किसी ने विरोध नहीं किया इसका मतलब है देश की Public हिंदू राष्ट्र बनाने के पक्ष में है ,तब हम कुछ भी नहीं कर पाएंगे ।

हिंदू राष्ट्र में इस देश के 85% बहुजन समाज का क्या हाल होगा यह आप लोग मेरी पिछले Article 70 साल की आज़ादी और हमारा संविधान में अच्छी तरीके से पढ़ चुके हैं ।
आप सभी Reads पड़कर कुछ लोग अगर यह सोच रहे होंगे कि यह आम बात है तो मैं बता देना चाहता हूं यह एक बहुत गंभीर मुद्दा है हमें सोच समझकर इससे बाहर निकलना होगा ।

आपको यह Article कैसा लगा कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं तथा आपके सुझाव हमें अवश्य बताएं
जय भीम जय भारत

0 comments:

आपको यह पोस्ट कैसी लगी कृपया यहाँ comment Box में बताये
धन्यवाद