Friday, 10 August 2018

संविधान जलाने वाले देशद्रोहियों पर मुकदमा क्यों नहीं

.

संविधान जलाने वाले देशद्रोहियों पर मुकदमा क्यों नहीं

Constitution against
संविधान की प्रतियां जलाते हुये देशद्रोही प्रदर्शनकारी
यह देश दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है, यहां शांतिपूर्वक अपनी-अपनी बात रखने का अधिकार है, और यह अधिकार हमें भारत देश के संविधान ने दिया है, लेकिन जब समाज के असामाजिक तत्व देश के संविधान का अपमान करते हैं, मुर्दाबाद के नारे लगाते हैं तो देश शर्म से डूब जाता है, घटना कल की है, दिल्ली में कानून के रक्षक Police की मौजूदगी में संविधान की प्रतियां जलायी गई ,तथा संविधान निर्माता डॉक्टर बाबा साहब अंबेडकर को गालियां दी गई, दिल्ली की संसद के पास राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति ,प्रधानमंत्री की नाक के नीचे जंतर मंतर पर मुट्ठी भर लोगों ने असामाजिक तत्वों द्वारा आरक्षण विरोध (Reservation Protest)के नाम पर संविधान को जलाया गया तथा अपमान किया गया, असल में पुलिस को Prevention of insult national honour act 2005, तहत संविधान का अपमान करने तथा राष्ट्र का अपमान करने कि आरोप में देशद्रोह का मुकदमा (court case) दर्ज कराना चाहिए था ,लेकिन मुकदमा दर्ज किया नहीं, इस देश के लिए बहुत बड़ी शर्म की बात है, यह सब  (Reservation) आरक्षण विरोध के नाम पर ऐसी नीच विचारधारा वाले लोगों पर केस तक दर्ज नहीं किया है यह हमारे देश के लिए बड़ी शर्म की बात है ,वह भी देश की  Parliament के पास हुआ है जो सजा देने की बात तो दूर केस तक दर्ज नहीं कर सकते, ऐसी  Government किसी काम की नहीं है और जो विपक्ष के नेता बने हुए हैं, उन्होंने भी आवाज नहीं उठाई देश के सबसे बड़े लोकतंत्र (Democracy) के कानून का संसद के सामने अपमान किया जाता है फिर भी यह सरकारें, विपक्ष के मुंह पर पट्टी बनी हुई है, ऐसे प्रकरण करके ऐसे लोगों की हिम्मत और बढ़ जाती है ।
असल में यह सरकार संविधान को खत्म करना चाह रहे हैं इसलिए ऐसी घटनाएं सामने आ रही हैं केंद्र तथा राज्य की सरकारें चाहती हैं कि संविधान खत्म हो जाए और देश में मनुस्मृति वाला संविधान लागू होकर हिंदू राष्ट्र ,(Hindu Nation)घोषित हो जाए, इसलिए ऐसी घटनाएं देखने को मिलती है तथा संसद की नाक के नीचे संविधान को जला दिया जाता है यह देश का अपमान है संविधान का अपमान है देश का अपमान करने वाले लोग देशद्रोही (Traitors) हैं ऐसे देशद्रोहियों आतंकवादी हैं और देश में ऐसी Thinking रखने वाले लोगों की सरकारें हैं इसलिए इनके खिलाफ कोई Action नहीं लेता है , तथा देश का बहुजन समाज (Bahujan Samaj) ऐसे लोगों को देशद्रोही कहता है , देश में आतंकवादियों की देशद्रोहियों की सरकार हैं यह सरकारी खासकर BJP RSS की सरकार है ,अगर यह सरकारें देशद्रोही आतंकवादी नहीं है तो साबित करें और संविधान Constitution जलाने वाले लोगों पर देशद्रोह का मुकदमा चला के इन्हें सजा दी जाए तब बहुजन समाज समझेगा की देश में आतंकवादी देशद्रोही सरकार नहीं है, अगर फिर भी कोई Action नहीं लिया तो बहुजन समाज के लोगों समझ लेना BJP RSS की सरकार का संविधान जलाने का समर्थन कर रहा है, तथा ऐसी सरकार है देशद्रोही सरकार है ।
बहुजन समाज के लोगों अब समझ जाओ तुम्हारा अस्तित्व खतरे में आ गया है ,अभी तुम्हारे सामने संविधान जलाया हैं 2019 के बाद तुम्हारी आंखों के सामने संविधान बदल दिया जाएगा और हम कुछ नहीं कर पाएंगे ,इसलिए बहुजन समाज के लोगों एक हो जाओ वरना आने वाली पीढ़ियां हमें कोशेगी और कहीं की कि हमारे पूर्वज नाकारा आलसी निकम्मे थे इसलिए हमारी आजादी यह लोग बचा नहीं पाए और आज हम गुलाम बन गए , खुद के लिए नहीं तो अपनी आने वाली पीढ़ियों के भविष्य के लिए एक हो जाओ और 2019 के चुनाव में बहुजन समाज एक होगा देशद्रोही आतंकवादियों की सरकारों को उखाड़ फेंक दो और अपनी सरकार कायम कर लो ।
यह भी पड़े :-  मायावती जी की Press Conference 10 मुख्य बिन्दु



0 comments:

आपको यह पोस्ट कैसी लगी कृपया यहाँ comment Box में बताये
धन्यवाद